सतलोक आश्रम प्रकरण : हत्या के केस में आईओ की हुई गवाही, इंस्पेक्टर सहित दो डॉ. नहीं पहुंचे अदालत 

Share this Article:-
Rate This post❤️

• सतलोक आश्रम प्रकरण : हत्या के केस में आईओ की हुई गवाही, इंस्पेक्टर सहित दो डॉ. नहीं पहुंचे अदालत

हिसार. बरवाला के सतलोक आश्रम प्रकरण में महिला की हत्या के मामले का ट्रायल अतिरिक्त सेशन जज अजय पराशर की अदालत में चल रहा है। सोमवार को जेल में लगी अदालत में मुकदमे के आईओ एसआई  की गवाही हो सकी। संत रामपाल जी महाराज के अधिवक्ताओं ने आईओ से जिरह की। इस दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये संत रामपाल जी महाराज की भी पेशी हुई।

मुकदमे में अन्य 13 आरोपितों को पुलिस ने अदालत में पेश किया। अदालत ने मामले में अगली सुनवाई के लिए 17 जुलाई की तिथि तय की है। वहीं संत रामपाल जी महाराज की पेशी के दौरान शहर में पुलिस अलर्ट रही। कोर्ट की ओर जाने वाले रास्तों पर पुलिस का पहरा रहा। रेलवे स्टेशन पर पहुंचे संत रामपाल जी महाराज के समर्थकों को पुलिस ने बाहर नहीं निकलने दिया।

बरवाला के सतलोक आश्रम प्रकरण को लेकर अदालत में मुकदमा संख्या 430 में महिला रजनी की मौत के मामले का ट्रायल चल रहा है। इस प्रकरण में संत रामपाल जी महाराज सहित 13 आरोपित हैं। सोमवार को 4 गवाह अदालत में तलब किए गए थे। इनमें मात्र मुकदमे का आईओ एसआई देवराज सिंह ही अदालत पहुंचा। जबकि डाॅ. राजीव चौहान, डाॅ. दिलदार सिंह एवं इंस्पेक्टर प्रदीप गवाही के लिए नहीं पहुंचे। सुबह से लेकर दोपहर आईओ की गवाही ही हुई। इस  गवाह से रामपाल के अधिवक्ता महेंद्र सिंह एवं अन्य अधिवक्ताओं ने काफी देर तक जिरह की।

एक और आरोपित के खिलाफ पेश किया चालान

हत्या के मुकदमा संख्या 430 में 13 आरोपित थे। मगर पुलिस ने पिछले सप्ताह एक और आरोपित कृष्ण के खिलाफ चालान पेश कर दिया। इसके चलते आरोपितों की संख्या अब 14 हो गई है। कृष्ण का ट्रायल भी अन्य आरोपितों के साथ ही होगा। मगर पीछे छूट चुके ट्रायल में गवाही देने वाले गवाहों को री कॉल किया जाएगा।

24  गवाहों की अभी और होनी है गवाही

हत्या के मुकदमा संख्या 430 में संत रामपाल जी महाराज सहित 14 आरोपित हैं। इस प्रकरण में पुलिस ने 44 गवाह बनाए हैं। अदालत में चल रहे ट्रायल के दौरान 20 गवाहों की गवाही पूरी हो चुकी है। 24 गवाहों की गवाही होना बाकी है।

समर्थकों को रोकने के लिए पुलिस रही सक्रिय

पुलिस का फोकस सोमवार को रेलवे स्टेशन पर रहा। तड़के ही पुलिस की टीमें रेलवे स्टेशन के गेट और उसके आसपास तैनात हो गई थी। उसकी वजह यह थी कि संत रामपाल जी महाराज के समर्थक ट्रेन के जरिये हिसार पहुंचे। पुलिस ने स्टेशन से संत रामपाल जी महाराज के समर्थकों को बाहर नहीं आने दिया। पुलिस ने स्टेशन से बाहर आने वाले प्रत्येक महिला एवं पुरुष से उसका परिचय पत्र देखा। इसको लेकर कई अन्य यात्रियों को भी दिक्कत का सामना करना पड़ा। पुलिस की सख्ती के कारण संत रामपाल जी महाराज के समर्थक स्टेशन के प्लेटफार्म पर ही डेरा डाले रहे। बावजूद इसके तमाम समर्थक टाउन पार्क तक पहुंच गए। हालांकि उन्हें जेल तक नहीं पहुंचने दिया। बाद में सभी समर्थक अपने गंतव्य को रवाना हो गए। इतनी सतर्कता के बाद भी संत रामपाल जी महाराज के कुछ समर्थक शहर में सड़कों पर दिखाई दिए।

•Facebook पर Like करें :-



• Follow On Twitter

Follow @lordkabir

• Subscribe On Youtube

LORD KABIR

 


Share this Article:-
Default image
Banti Kumar

📽️Video 📷Photo Editor | ✍️Blogger | ▶️Youtuber | 💡Creator | 🖌️Animator | 🎨Logo Designer | Proud Indian

Articles: 370

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *