December 2, 2020

Category: Gyan Prakash

वास्तव में पूरे कबीर सागर का सारांश है ‘‘धर्मदास बोध‘‘ यानि ‘‘ज्ञान प्रकाश’’। परमात्मा ने अपने प्रिय भक्त धर्मदास जी को सत्य आध्यात्मिक ज्ञान बताया। इसलिए कबीर सागर ‘‘धर्मदास बोध‘‘ है और जिसका विस्तृत वर्णन है ‘‘ज्ञान प्रकाश‘‘ अध्याय में जो छठा अध्याय है।

Sorry, there is no content found on this page. Feel free to contact the website administrator regarding this issue.