बरवाला काण्ड 2 रिपोर्ट – मिडिया की औच्छी भुमिका

Share this Article:-
Rate This post❤️

मिडिया में जो कुछ लिखा गया उसका सच से कोई लेना देना नहीं। सच ये है ऊपर के स्लाइड्स पढ़ो ।

14/11/2016
जब संत रामपाल जी महाराज के भगतों ने मोदी की सभा में CBI जाँच की माँग की तब मोदी के कार्यकर्ताओ ने CBI जाँच वाले पोस्टर ही छिन लिये ?
मोदी ये क्या हो रहा है अब न्याय की माँग भी नही कर सकते क्या ?
देखें वीडियो-
वीडियो को Like और चैनल को Subscribe जरूर करें ।

सत् साहेब

 कहते है कि इंसान अपनी कमी को दूसरे के अंदर देखता है । दूसरे की तरक्की से जलता है । अपने दामन में नहीं झांकता । जब हम एक उंगली दूसरे की तरफ करते है तो चार अपनी तरफ होती है ।
 कहते है साईं बाबा जब जिन्दा थे तो उनके भक्तों ने कुछ नहीं किया । और आज अगर संत रामपाल जी के भक्त अपने भगवान् आत्मा के पिता के लिए कुछ कर रहे है तो उन लोगों की क्यों जल रही है ? क्यों दुःख रही है? जिन्होंने एक पैसा भी दान न किया ?? हम कैसे अपनी जिंदगी जिएंगे ये किसी वेश्या मीडिया से पूछने की जरुरत नहीं ।

मीडिया एक वैश्या है । अब डेढ़ साल से कहाँ मर गयी है ये मीडिया ? जहाँ जंतर मंतर पे संत रामपालजी के समर्थक सीबीआई जांच की मांग कर रहे है और सरकार डर के मारे कोई जांच नहीं करवा रही।
क्यों कि ये सारा भ्रम पुलिस और सरकार का फैलाया हुआ है । अपनी नाकामी को छुपाने के लिए ।
एक संत को पकड़ने के लिए 50,000 पुलिस फ़ोर्स और 6 लोगों की हत्या !! ??

और जब हरयाणा दंगे में जल रहा था तो कहा गयी हरयाणा सरकार और पुलिस की मर्दानगी ? अरे साहब ये एक उलटी झूठी मक्कार दुनिया है । इतिहास गवाह है जब जब आदमी सत्य और भक्ति मार्ग पे चला है उस पे मुसीबतों का पहाड़ ही टूटा है ।

जैसे : कृष्णा मीरा प्रह्लाद ईसामसीह गुरु तेग बहादुर गुरु गोविन्द निकोलस और इसी कड़ी में संत रामपालजी महाराज के साथ भी धोखा व् झूठे सबूत बना के उनको बदनाम और उनकी संगत को तोड़ने की चेष्टा है ।
क्योंकि भ्रस्ट लोगों और नकली धर्म गुरु को डर सता रहा है कि हमें कुत्ता भी नहीं पूछेगा । सतलोक आश्रम पे 2006, 2013 में हमले किये गए इसमें रामदेव और rss का हाथ है । रामदेव ने मीडिया को दो करोड़ रुपये दिए negative न्यूज़ दिखाने वास्ते।
कहते है समझदार को इशारा काफी है और कुत्ते तो आईने में अपने को ही देख के भोंक भोंक के मर जाते है । इंसान अपनी ही कमी दूसरे में देखता है ।

कबीर बुरा जो देखन मैं चला बुरा न मिल्या कोय । 
जो मन देखा अपना बुरा न मिल्या कोय । 

आज एक साल से ज्यादा हो गया और पुलिस अपनी जांच भी पूरी नहीं कर पायी है । और इस बात को पुलिस ने अदालत में लिखित में स्वीकार किया है ।
अधिक जानकारी के लिए RSSS  को explore करें और

 बरवाला की घटना की सच्चाई ,
भोगेगा अपना किया रे ,
 करौंथा काण्ड का रहस्य ,
           इत्यादि किताबों को पढ़े तब कही आप जान पाएंगे कि इस पापी और भ्रस्ट चांडाल चौकड़ी  जज सरकार पुलिस और मीडिया ने आपके बहुमूल्य मानव जीवन के साथ खिलवाड़ किया है । मुक्ति से दूर कर दिया है जिसके लिए ये शरीर मिला हमको शिक्षित किया internet mobile satellite modern world दिया परमात्मा ने । उनकी सारी मेहनत पे पानी फेरा है मीडिया ने अपनी मक्कारी दिखा के । जो मीडिया इतनी सी बात की समीक्षा नहीं कर सकती की सर्व ग्रन्थ का सार है कबीर साहेब इस सृष्टि के रचयिता है कुल मालिक है ।
वो रोज क्या भौंकती रहती है और उन ख़बरों में कितनी सच्चाई होती है इसका अंदाजा आप लगा ही सकते है ।
गुरु ग्रन्थ साहेब के पेज 721 पे लिखा है

” हक्का कबीर करीम तू बेऐब परवरदिगार “

 मतलब कबीर ही दयालु परमात्मा है जो सबका धारण पोषण करता है ।
गुरु ग्रन्थ साहेब के पेज 24 पे उस परमात्मा की पहचान बतायी गयी है

” तेरा एक नाम तारे संसार ,
नानक नीच कहे विचार ,
धाणक रूप रहा करतार “

मतलब कबीर साहेब जुलाहे की भूमिका कर के गए और वो कुल मालिक है ये सब सृष्टि उनकी है ।
  इस पे एक वाणी है
 ” गरीब , हम सुल्तानी नानक तारे ,
दादू को उपदेश दिया ,
जात जुलाहा भेद न पाया
 वो काशी माहे कबीर हुआ

। सत् साहेब ।

 क़ुरआन शरीफ के chapter 25 verse 52 में लिखा है

 ” फला तुतिअल काफिरन व् जाहिदहुम विहि जिहादन कबीरा “
 मतलब  उस कबीर अल्लाह के लिए संघर्ष कर जिहाद कर लड़ना नहीं और वो लोग काफ़िर है जो उनकी पूजा न कर के नीचे अन्य देवी देवताओं में लगे रहते है।

 इस पे गरीबदास साहेब की वाणी है
 ” हम ही अलख अल्लाह है
क़ुतुब गोस और पीर
 गरीबदास खालिक धनि
हमरा नाम कबीर ।

  गीता 8/9 में लिखा है ” कविं सर्वस्य ” मतलब कबीर ही सबका धारण पोषण करता है ।
  कुछ संत हुए है जैसे
गुरु नानक देव जी ,
संत गरीबदास जी ,
संत दादू जी ,
 स्वामी रामानन्द जी इत्यादि

 इनकी आत्मा को कबीर साहेब ने सच्चखंड दिखया तो ये महापुरुष हमारे लिए अपनी वाणी में affidavit लिख के चले गए
” गरीब, जाके अर्ध रूम पे सकल पसारा
 ऐसा पूर्ण ब्रह्म हमारा “

मतलब भगवान् के आधे रोम पे सृष्टि टिकी हुई है ।

” गरीब , अनंत कोटि ब्रह्माण्ड का एक राति नहीं भार ,
सतगुरु पुरुष कबीर है कुल के सृजनहार “
 ” जिन मोकूँ निज नाम दिया सोई सतगुरु हमार ,
दादू दूसरा कोई नहीं कबीर सिरजनहार । ”

मतलब कबीर साहेब सृष्टि को रचने वाले है मालिक है ।
इसी पे कबीर साहेब की वाणी है कि

” ये स्वामी सृष्टा मैं सृष्टि हमारे थीर ,
गरीबदास अधर बसूँ अविगत सत् कबीर “

   ऋग्वेद इस विश्व की सबसे पुरानी किताबी है । इसके मण्डल 9 सूक्त 96 मंत्र 17 और 18 में लिखा है कि
परमात्मा शिशु के रूप में कमल के फूल पे अवतरित होता है और अपनी शिक्षाओं को कबीर वाणी द्वारा समझाता है । परमात्मा संत की भूमिका करता हुआ कवि की पदवी को प्राप्त होता है ।
  यजुर्वेद का अध्याय 29 का मन्त्र 25 कहता है की
कबीर साहेब ही हमें मुक्ति की राह दिखाते है और हम जो शास्त्र के विरूद्ध पूजा कर रहे है उस से हमें अवगत कराते है । जो की हमारा जीवन व्यर्थ कर देती है शास्त्रविरुध् पूजा ।
सामवेद का अध्याय 4 खंड 25 श्लोक 8 कहता है कि
कबीर साहेब ही युवा है हर कार्य को करने में समर्थ है । बाकी के देवता और भगवान् को बूढ़े और बच्चे समझों । युवा ही हर काम को कर सकता है। कबीर साहेब विशाल शक्ति युक्त है ।
 और अथर्वेद के काण्ड 4 अनुवाक 1 मंत्र 7 में कबीर साहेब के लिए लिखा है
” त्वमेव माता च पिता त्वमेव ,
 त्वमेव बंधु च सखा त्वमेव ,
 त्वमेव विद्या द्रविणं त्वमेव ,
 त्वमेव सर्वम् मम देव देवम् ।

   तो सर्व धर्म ग्रंथो का सार यही है कि कबीर साहेब ही कुल मालिक है ।  आगे कबीर साहेब के पंथ में संत गरीबदास जी हुए और इसी पंथ में कबीर साहेब ने बोल रखा है कि मैं अपना अंश भेजूंगा ।
मुक्ति का अनुबंध काल और कबीर साहेब का पढ़ें पेज 121 और 171 पे कबीर सागर में । तो संत रामपालजी कबीर परमेश्वर के अवतार है । जिनको न पहचान कर इस चांडाल चौकड़ी ने समस्त मानव जाति को गुमराह किया। खैर सांच को आँच नहीं । परमात्मा सीघ्र ही अपने बच्चों के उद्धार के लिए जनता को सत्य से अवगत कराएंगे ।

 ” कबीर साहेब से सब होत है बन्दे से कुछ नाहिं ,
 राई से पर्वत करे , पर्वत से फिर राई ।

परमात्मा की मर्जी के बगैर पत्ता भी नहीं हिलता ।
मीडिया ने जो दुष्प्रचार किया है वो भक्तों की परीक्षा का समय था कि उनको अपने भगवान् और उनकी शिक्षाओं पे कितना भरोसा है । जैसे आंधी आने पे कच्चे पेड़ टूट जाते है और मजबूत खड़े रहते है ।

 अधिक जानकारी के लिए पढ़िए पुस्तक ” ज्ञान गंगा और धरती पर अवतार ” फ्री डाउनलोड करें www.jagatgururampalji. org  या डाक द्वारा फ्री में मंगवाने के लिए अपना पूरा पता निम्न नंबरों पे sms करें  7027000825  7027000826 7027000829  

और जानिये इन अनसुलझे सवालों के जवाब :
 1. सृष्टि की रचना किसने व् कैसे की ? सबका मालिक एक कौन है ?
 2. कौन ब्रह्मा का पिता है ? कौन विष्णु की माँ ?
 कौन शंकर का दादा है ? हमकों दे बता ।
 3. ब्रह्मा विष्णु महेश के माता पिता कौन है ?
4. शेरावाली माता दुर्गा अष्टांगी का पति कौन है ?
 5.  क्या ब्रह्मा विष्णु महेश वास्तव में अजर अमर है ?
 6. हम क्यों जन्मते मरते है ?
 हमको जन्म देने और मारने में किस प्रभु का स्वार्थ है ?
 7. मानव जीवन का मुख्य उद्देश्य क्या है ?
 84 लाख योनियां क्यों बनायीं गयी है ?
 8. मोक्ष क्या होता है ? मोक्ष पाना क्यों आवश्यक है ? परमात्मा की परिभाषा क्या है ?
9. पूर्ण संत की क्या पहचान है ? एवम् पूर्ण मोक्ष कैसे मिलेगा ?
  10. श्री गुरु नानक देव जी के गुरु कौन थे ? सतनाम क्या है ?
 गुरु बनाना क्यों आवश्यक है ?
11. किसी भी गुरु की शरण में जाने से मुक्ति संभव है कि नहीं ?
 12. हम सब देवी देवताओं की इतनी भक्ति करते है फिर भी दुखी क्यों है ?
13. ब्रह्मा विष्णु महेश किसकी भक्ति करते है ? भक्ति करने से क्या लाभ है ?
भक्ति मर्यादा क्या है ?
14. परमात्मा साकार है या निराकार ? परमात्मा हमें दिखाई क्यों नहीं देते ?
15. अल्लाह – खुदा – गॉड – रब – भगवान् के दीदार संभव है कि नहीं ?
16. सच्चा जिहाद क्या होता है ? काफ़िर किसको कहते है ?
17. एक तू सच्चा एक तेरा नाम सच्चा यह वाक्य किसके लिए लिखा गया है ?
 18. तीर्थ व्रत तर्पण या श्राद्ध निकालने से कोई लाभ है या नहीं ? (गीतानुसार)
19. श्री कृष्ण जी काल नहीं थे फिर गीता वाला काल कौन है ?
 काल की परिभाषा क्या है ?
 20. कौन तथा कैसा है कहाँ रहता है किसने देखा है पूर्ण परमात्मा ?
 21. त्रिगुणमयी माया – रजगुण ब्रह्माजी तमगुण शिवजी सतगुण विष्णु जी जीव को मुक्त नहीं होने देते क्यों ?
22. रोज धरती डेढ़ लाख इंसान मर जाते है  क्यों ?
23. समाधि अभ्यास meditation , राम , हरे कृष्ण हरि ॐ वाहेगुरु आदि आदि नामों
 के जाप से सुख और मुक्ति संभव है कि नहीं ?

यह जानने के लिए कृपया देखिये संत रामपालजी महाराज के मंगल प्रवचन रोज शाम 7:40 से 8:40 साधना टीवी पे और रोज सुबह 6 से 7 हरियाणा न्यूज पे

 । सत् साहेब ।
बंदी छोड़ सतगुरु रामपालजी महाराज की जय ।
बंदी छोड़ कबीर साहेब की जय ।      

LORD KABIR

 


Share this Article:-
Default image
Banti Kumar

📽️Video 📷Photo Editor | ✍️Blogger | ▶️Youtuber | 💡Creator | 🖌️Animator | 🎨Logo Designer | Proud Indian

Articles: 370

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *